राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना की हुई शुरुआत, 33 किसानो को मिलेंगे फ्री ट्रेक्टर

Rajasthan Kisan Beej Uphar Yojana 2022 Apply Online राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे , लाभ व् पात्रता जाने

राजस्थान बीज निगम की तरफ से प्रदेश के किसान भाइयों के लिए राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना 2022 को शुरू किया है। यह योजना 22 अक्टूबर 2022 से प्रदेश में लागू भी कर दी गई है। इस योजना के तहत बीज निगम से बीज खरीदने वाले किसान भाइयों को लाटरी के माध्यम से प्रत्येक जिले में एक-एक ट्रैक्टर बिल्कुल निशुल्क दिए जाएंगे। अगर आप राजस्थान के किसान है तो आप भी Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana के तहत ट्रैक्टर प्राप्त कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं कि किस प्रकार आप इस योजना के तहत ट्रैक्टर प्राप्त कर सकते हैं और इस योजना से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में भी जाने के लिए हमारे इस लेख को अवश्य पढ़ें।

Rajasthan Kisan Beej Uphar Yojana

Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana 2022

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार द्वारा रबी सीजन 2022-23 में राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना 2022 को शुरू किया गया है। यह एक उपहार योजना है जिसके माध्यम से राजस्थान के प्रत्येक जिले में बीज निगम से बीज खरीदने वाले किसानों को लॉटरी के माध्यम से 1-1 ट्रैक्टर दिए जाएंगे।

इस योजना का हिस्सा बनने के लिए किसानों को राज सीड्स से बीज का थैला खरीदना होगा। इन बीज के थेले में कूपन होगा जिन्हें किसान भाइयों को बीज निगम की ओर से रखे गए बॉक्स में डालना होगा। इसके बाद इन्हीं कूपन के आधार पर  प्रत्येक जिले में लॉटरी निकाली जाएंगी। लॉटरी के ‌द्वारा ही राजस्थान के प्रत्येक जिले में 1-1 किसानों को ट्रैक्टर दिया जाएगा साथ ही प्रत्येक जिले के 20 किसानों को बैटरी चलित स्प्रे मशीन और 30 किसानों को टॉर्च भी दी जाएगी। यानी Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana के माध्यम से हर जिले के 1 किसान को ट्रैक्टर 20 को बैटरी वाला स्प्रे और 30 किसानों को टॉर्च दी जाएगी। कुल मिलाकर इस तरहां प्रदेश के हर जिले में 51 किसानों को उपहार दिए जाएंगे।

राजस्थान तारबंदी योजना 

राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना 2022 का अवलोकन

योजना का नामराजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना
शुरू की गईराजस्थान बीज निगम द्वारा
लाभार्थीबीज खरीदने वाले किसान भाई
उद्देश्यलॉटरी के द्वारा प्रदेश के हर जिले में 1 किसान को ट्रैक्टर 20 को बैटरी वाले स्प्रे और 30 को टॉर्च देना
साल2022
राज्यराजस्थान
योजना की श्रेणीराजस्थान सरकारी योजना

राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना के तहत हर जिले के 51 किसानों को दिए जाएंगे उपहार

इस योजना के माध्यम से राजस्थान के हर जिले में 51 किसानों को लॉटरी के माध्यम से उपहार दिए जाएंगे। इन 51 किसानों में से 1 किसान को ट्रैक्टर 20 को बैटरी से चलने वाले स्प्रे और 30 को टॉर्च दी जाएगी। राजस्थान के बीज निगम के अध्यक्ष धीरज गुर्जर ने बताया है कि बीज निगम की ओर से अपने वार्षिक 12 करोड़ लाभांश में से 4 करोड़ रुपए राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना के लिए रखे जाएंगे। उन्होंने ओर यह भी बताया है कि जो बीज ‌ किसान भाई खरीदेंगे वह वैज्ञानिकों ने तैयार किए हैं‌। प्रदेश में राजफैड की ओर से समर्थन मूल्य पर उड़द,सोयाबीन और मूंगफली की खरीद के लिए 27 अक्टूबर से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा‌। इसके बाद फिर 1 नवंबर से लगभग 879 केंद्रों पर सोयाबीन, उड़द और मूंगफली की खरीद शुरू की जाएगी।

राजस्थान ग्रामीण परिवार आजीविका ऋण योजना 

Rajasthan Kisan Beej Uphar Yojana 2022 का उद्देश्य

प्रदेश सरकार का राजस्थान किसान पर उपहार योजना को लागू करने का मुख्य उद्देश्य प्रदेश में बीज निगम से राज सीड्स के बीज खरीदने वाले किसानों को लॉटरी के माध्यम से उपहार के तौर पर ट्रैक्टर, बैटरी चलित स्प्रे मशीन और टॉर्च देना है। जिससे किसान प्रमाणित राज सीड्स के उच्च गुणवत्ता युक्त बीज खरीदने की ओर आकर्षित हो सके। इस योजना के तहत राजस्थान के प्रत्येक जिले में 51 लॅकी किसानों को लॉटरी के माध्यम से उपहार देने के लिए चुना जाएगा। जिनमें से 1 को ट्रैक्टर, 20 को बैटरी चलित स्प्रे मशीन और 30 को टॉर्च दी जाएगी।

Rajiv Gandhi Kisan Beej Uphar Yojana 2022 के माध्यम से राज्य के किसान राज सीड्स के बीज जो वैज्ञानिकों द्वारा तैयार किए गए वह खरीदने के लिए आकर्षित होंगे। जिससे राज्य में प्रमाणित वैज्ञानिक बीजों के इस्तेमाल में बढ़ोतरी होगी। साथ ही यह योजना किसानों को उपहार देकर उन्हें ट्रैक्टर, बैटरी चलित स्प्रे मशीन और टॉर्च देकर लाभांवित भी करेगी।

राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना 2022 के लाभ एवं विशेषताएं

  • राजस्थान बीज निगम की ओर से राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना 2022 की शुरुआत की गई है।
  • यह योजना 22 अक्टूबर 2022 से प्रदेश में लागू भी कर दी गई है।
  • इस योजना के माध्यम से प्रदेश के हर जिले में बीज निगम से बीज खरीदने वाले 51 किसानों को लाटरी के माध्यम से उपहार दिया जाएगा।
  • इन 51 किसानों में से 1 किसान को ट्रैक्टर, 20 को बैटरी चलित स्प्रे मशीन और 30 किसानों को टॉर्च उपहार के तौर पर दी जाएगी।
  • इस योजना का हिस्सा बनने के लिए किसान को राज सीड्स का बीज का थैला खरीदने होंगे। इस थैले में एक कूपन होगा जिसे बीज निगम की ओर से रखे गए बॉक्स में डालना होगा। इन्हीं कूपनो के आधार पर लॉटरी निकाल कर विजेता को उपहार दिया जाएगा।
  • Rajasthan Kisan Beej Uphar Yojana 2022 को शुरू करने का मुख्य लक्ष्य वैज्ञानिकों द्वारा तैयार किए गए राज सीड्स के प्रमाणित बीज खरीदने के लिए किसानों को आकर्षित करना है।
  • प्रदेश में राजफैड की ओर से समर्थन मूल्य पर उड़द,सोयाबीन और मूंगफली की खरीद के लिए 27 अक्टूबर से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इसलिए जो भी किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं वह जल्द से जल्द बीज खरीदने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवा ले।
  • राज्य में इस योजना के तहत सभी 33 जिलों के 1 किसानों को ट्रैक्टर दिया जाएगा। यानी कुल मिलाकर इस योजना के तहत 33 ट्रैक्टर उपहार के रूप में दिए जाएंगे।

राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना राजस्थान के तहत पात्रता

  • इस योजना का लाभ केवल राजस्थान के किसान भाइयों को ही दिया जाएगा।
  • किसान राजस्थान का मूल निवासी होना चाहिए।

Rajasthan Kisan Beej Uphar Yojana 2022 के तहत आवेदन कैसे करें?

किसानों को इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसी भी तरह का कोई आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान को राजस्थान बीज निगम से बीज का थैला खरीदना होगा। इस थैले में एक कूपन होगा जिसे बीज खरीदने वाले किसान को बीज निगम की ओर से रखे गए बॉक्स में डालना होगा। इसके बाद इन्हीं कूपनो के आधार पर हर जिले में लॉटरी निकाली जाएगी। जिन लकी किसानों का नाम लॉटरी में निकलेगा उन्हें ही राजीव गांधी किसान बीज उपहार योजना 2022 के तहत उपहार के तौर पर ट्रैक्टर, बैटरी चलित स्प्रे मशीन, टॉर्च दी जाएगी। हर जिले में 51 किसानों को उपहार दिए जाएंगे जिनमें 1 किसान को ट्रैक्टर, 20 को बैटरी चलित स्प्रे मशीन और 30 को टॉर्च दी जाएगी।

Updated: October 29, 2022 — 10:32 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *