छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना: ऑनलाइन आवेदन (CG Godhan Nyay) लाभ व पात्रता

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, पंजीकरण फार्म 2022 | CG Godhan Nyay Yojana Application Form | गोधन न्याय योजना लाभार्थी सूची

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana 2022 को राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के माध्यम से 20 जुलाई 2020 को किसानों पशुपालकों को फायदा पहुंचाने के लिए शुरू किया गया हैं इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा गाय पालने वाले पशुपालक किसानों से गाय का गोबर खरीदा जाएगा। छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालक से खरीदे गए गोबर का इस्तेमाल सरकार वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने के लिए करेगी। इस योजना के जरिए छत्तीसगढ़ सरकार गायों के लिए भी कार्य कर रही है। तो दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा से इस योजना से संबंधित सभी जानकारी को प्रदान करेंगे तथा आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

CG Godhan Nyay Yojana 2022

छत्तीसगढ़ सरकार छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के माध्यम से 21 जुलाई को पहली बार गोबर खरीदने की शुरुआत करेगी। इस योजना का फायदा सीधे छत्तीसगढ़ राज्य के पशु पालने वालों को होगा। राज्य के इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो उन्हें सबसे पहले इस CG Godhan Nyay Yojana के तहत आवेदन करना होगा। आवेदन करने से पहले आपको इस योजना की पात्रता, दिशा निर्देश को पढ़ना होगा। इस योजना को दो चरण में चलाया जाएगा। जिसमें पहले चरण में राज्य के 2240 गौशालाओं को जोड़ा जाएगा। फिर कुछ ही दिनों में 2800 गटनों का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाएगा। गाय का गोबर कई तरह के काम में आता है इसके द्वारा से अच्छा इंधन तैयार होता है इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा गाय का गोबर 2 रुपये प्रति किलो की दर से खरीदा जाएगा।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना

CG Godhan Nyay Yojana की ओर देश के अन्य राज्य में हो रहे आकर्षित

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने 20 नवंबर सन् 2022 को अपने निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में गोधन न्याय योजना के हितग्राहियों को 56वीं‌ किश्त के रूप में ऑनलाइन 7 करोड़ 14 लाखों रुपए की राशि हस्तांतरित की है। इस राशि में गोबर विक्रेताओं के 4.55 करोड़ रुपए, गौठान समितियों के 1.17 करोड़ रुपए एवं स्वयं सहायता समूह के 1.42 करोड़ों रुपए शामिल है। इस मौके पर मुख्यमंत्री जी ने अपनी खुशी व्यक्त करते हुए कहा है कि राज्य में गोधन न्याय योजना के अंतर्गत संचालित 9 हजार गौठानों में से अब तक 4 हजार से अधिक गौठान पूरी तरह से स्वावलंबी बन गए हैं, जो स्वयं की राशि से गोबर खरीदने में सक्षम हो गए हैं, यह योजना का उल्लेखनीय और एक महत्वपूर्ण परिणाम है। आगे उन्होंने यह कहा है कि ये आंकड़े और परिणाम गोधन न्याय योजना की सफलता को स्पष्ट रूप से दर्शाता है। जिसकी चर्चा अब देशभर में होने लगी है और इसके परिणाम को देखते हुए अन्य राज्य भी गोधन न्याय योजना को अपनाने के लिए उत्सुक हैं। कभी किसी ने सोचा नहीं था कि गोबर से भी पैसा कमाया जा सकता है पर गोधन न्याय योजना का क्रियान्वयन कर छत्तीसगढ़ में राज्य सरकार ने इसे साबित कर दिखाया है

गोधन न्याय योजना 2022 के तहत 2 सालों में 350 करोड़ 54 लाख रुपए का किया जा चुका है भुगतान

इस योजना को शुरू हुए 2 साल हो चुके हैं। 2 साल के अंदर इस योजना के तहत लाभार्थियों को 350 करोड़ 54 लाख रुपए का भुगतान किया जा चुका है। यह भुगतान सरकार द्वारा लाभार्थी पशुपालको, गौठानो से जुड़ी महिला समूह, किसानों और गौठान समितियों को उनके बैंक खाते में हस्तांतरित किया गया है। राज्य सरकार द्वारा अबतक छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना 2022 के तहत 10624 गांवों में गौठानों के निर्माण को स्वीकृति दी जा चुकी है जिसमें से 8408 गौठानं बन चुके हैं और 1758 गौठानों का निर्माण कार्य चल रहा है।

हाल ही में राज्य में गौठानों से 13,969 महिला स्वयं सहायता समूह सीधे जुड़ी है। इन सभी समूह की सदस्यों की संख्या 83874 है। इस योजना के तहत महिला समूह गोबर से खाद बनाने के साथ-साथ अगरबत्ती एवं मूर्तियों आदि का निर्माण करके उन्हें बेचकर भी लाभ प्राप्त कर रही हैं। इसके अलावा सब्जी एवं मशरूम का उत्पादन, बकरी, मुर्गी मछली पालन एवं पशुपालन के साथ-साथ अन्य आय मूलको जैसी गतिविधियों का संचालन भी किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का उद्देश्य (Objective)

दोस्तों जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि छत्तीसगढ़ में ऐसे बहुत से किसान है जो कि पशु पालन करते हैं परंतु ज्यादा आमदनी ना होने की वजह से वह अपने पशुओं को बाहर खेतों में चलने के लिए छोड़ देते हैं जिसकी वजह से सड़कों पर ज्यादा मात्रा में गंदगी फैल जाती है सरकार के माध्यम से Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana को आरंभ करने का प्रमुख उद्देश्य यही है कि पशुपालन करने वाले किसानों के पशुओं के गोबर को बेचकर उनकी आय में वृद्धि बढ़ सके। साथ ही सड़कों पर होने वाली गंदगी को भी रोका जाए। इस योजना के द्वारा से पशुपालकों की आय में वृद्धि होने से पशुओं को उनके पशुपालन में ही रखा जाएगा।

जिससे कि पशुओं को इधर-उधर चरने की भी जरूरत नहीं होगी। योजना के द्वारा से गांव में भी स्वच्छता बनी रहेगी। ऐसा माना जा रहा है कि जल्द सेंट्रल गवर्नमेंट भी पूरे भारत के लिए छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना जैसी योजना आरंभ करेंगी।

Chhattisgarh FGR Portal

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana Highlights

योजना का नामछत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना
इनके द्वारा  शुरू की गयीमुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा
लॉन्च की तारीक20 जुलाई 2020
लाभार्थीगाय पालने वाले पशुपालक
उद्देश्यपशुपालको की आय में वृद्धि करना
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
श्रेणीछत्तीसगढ़ सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttp://www.cgstate.gov.in/

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के लाभ (Benefits)

  • योजना का लाभ छत्तीसगढ़ राज्य के गाय पालने वाले पशुपालको/किसानो को प्रदान किया जायेगा।
  • इस योजना के माध्यम से पशुपालकों की आय में वृद्धि होने से पशुओं को उनके पशुपालन में ही रखा जायेगा|
  • योजना के माध्यम से गांवों में भी स्वच्छता बनी रहेगी।
  • सरकार के माध्यम से इस योजना को आरंभ करने का प्रमुख उद्देश्य यही है।
  • कि पशुपालन करने वाले किसानों के पशुओं के गोबर को बेचकर उनकी आय में वृद्धि बढ़ सके।
  • साथ ही सड़कों पर होने वाली गंदगी को भी रोका जाए।
  • राज्य में किसानो और पशु पालन करने वालों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।

PM Fasal Bima Status

गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ के मुख्य तथ्य

  • योजना को ज्यादा से ज्यादा गांव और शहरों में भविष्य में चलाया जायेगा।
  • इस योजना को दो चरण में चलाया जाएगा।
  • जिसमें पहले चरण में राज्य के 2240 गौशालाओं को जोड़ा जाएगा।
  • फिर कुछ ही दिनों में 2800 गटनों का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाएगा।
  • योजना के ज़रिये 2 रूपये प्रतिकिलो की दर से गाय का गोबर ख़रीदा जायेगा।
  • योजना के माध्यम से सरकार 21 जुलाई 2020 को पहली बार गोबर खरदीने की शुरआत करेगी।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक छत्तीसगढ़ राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • योजना  के तहत केवल राज्य के गाय पशुपालको को ही पात्र माना जायेगा।
  • बड़े जमींदारों व्यापारियों को उनकी समृद्धता के आधार पर इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा।
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • पशुओ से सम्बंधित जानकारी
  • मोबाइल नंबर

गोबर-धन योजना

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर को ओपन करना होगा।
  • गूगल प्ले स्टोर को खोलने के बाद आपको सर्च बार में छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना लिखना होगा।
  • इसके बाद सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप सर्च के बटन पर क्लिक करेंगे आपके सामने एप्लीकेशन खुल जाएगी।
  • इसके पश्चात आप Chhattisgarh Godhan nyay Yojana को डाउनलोड करके इनस्टॉल के बटन पर क्लिक करना होगा। अब आप इस एप्लीकेशन को डाउनलोड करने की बाद इस एप को ओपन करेंगे।
छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना
  • इसके बाद आपको छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना आवेदन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एप्लीकेशन फॉर्म खुल जायेगा।
  • फिर आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आपका आवेदन हो जायेगा।
Updated: November 21, 2022 — 6:50 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *