मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन करें, लाभ तथा पात्रता जानें

दोस्तों बिहार सरकार के माध्यम अपने राज्य में मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के द्वारा से किसानों को मत्स्य पालन करने के लिए तालाब निर्माण करवाने पर 70% तक अनुदान दिया जाएगा। मत्स्य विभाग द्वारा यह अनुदान दिया जाएगा। सरकार ने प्रदेश के चौर जल क्षेत्र भूमि में पड़ी बेकार या बंजर भूमि पर तालाब बनाने के लिए इस प्रोजेक्ट की पहल की है। तो भाइयों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा से Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana 2022 से संबंधित सभी जानकारी को प्रदान करेंगे। अगर आप इस योजना से संबंधित सभी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं। तो आपको हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ना होगा। मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए क्लिक करें.

मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना

Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana 2022

मित्रों बिहार राज्य में मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना के द्वारा से बड़े पैमाने पर उपलब्ध निजी चौर जल क्षेत्र भूमि में मत्स्य (मछली) पालन के लिए तालाब निर्माण करवाए जाएंगे। मत्स्य पालन के साथ-साथ कृषि, बागवानी व कृषि वानिकी को भी विकसित किया जाएगा। सरकार तालाबों के निर्माण पर अनुदान देने के साथ-साथ कृषि, बागवानी व कृषि वानिकी पर अलग से अनुदान देगी। Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana के द्वारा से बड़े पैमाने पर रोजगार सर्जन होगा। अभी फिलहाल पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग ने इस योजना को पायलट के रूप में सीवान सहित छह जिलों में शुरू किया है। 50 हेक्टेयर में तालाब निर्माण को लेकर विभाग ने 2.48 करोड़ रुपये अनुदान देने का लक्ष्य निर्धारित किया है। चौर विकास के लिए तीन प्रकार का मॉडल तैयार किया गया है।

जिनमें एक हेक्टेयर में दो तलाब, चार तालाब और एक तालाब का निर्माण एवं भूमि विकास की योजना बनाई गई है। इस योजना के तहत मत्स्य पालन करने के लिए तालाब निर्माण पर लाभार्थी को 70% तक अनुदान की राशि दी जाएगी।

Bihar Aaksmik Fasal Yojana

मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना 2022 हाइलाइट्स

योजना का नाममुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना
आरंभ की गईबिहार सरकार के माध्यम
उद्देश्यमछली पालन को बढ़ावा देने के लिए निजी चौर जल क्षेत्रों में तालाब निर्माण हेतु अनुदान प्रदान करना
लाभार्थीबिहार राज्य के नागरिक
अनुदान70 फीसदी तक
साल2022
श्रेणीबिहार सरकारी योजना
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन मोड
आधिकारिक वेबसाइटhttp://fisheries.bihar.gov.in/

Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana 2022 के आवेदन से जुड़ी आवश्यक तिथियां

सरकार के माध्यम इस योजना के तहत इच्छुक लोगों से आवेदन मांगे गए हैं आवेदन की तिथियां से जुड़ी जानकारी नीचे की ओर इस प्रकार से दी हुई है।

  • अधिकारिक सूचना जारी होने की तिथि- 9 सितंबर सन 2022
  • आवेदन करने की अंतिम तिथि- 18 अगस्त सन 2022

Bihar CM Helpline Number

Samekit Chaur Vikas Yojana 2022 के तहत प्रदान किए जाने वाला लाभ

मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना के तहत परंपरागत मछुआरों को प्राथमिकता दी जाएगी। योजना के तहत चयनित लाभार्थियों को चौर भूमि के समेकित विकास के लिए 3 मॉडल तैयार किए गए हैं। जो एक हेक्टेयर में 2 तालाब, चार तालाब तथा एक तालाब का निर्माण एवं भूमि विकास के मॉडल है। इस योजना के तहत एक हेक्टेयर रकवा में 2 तालाब बनाने में 8.80 लाख/हेक्टेयर, 1 हेक्टेयर रकवा में चार तालाब बनाने में 7.32 लाख/हेक्टेयर और एक हेक्टेयर रकवा में एक तालाब का निर्माण एवं भूमि विकास में 9.69 लाख/हेक्टेयर की लागत आएगी। इसमें सरकार अन्य वर्ग के लाभार्थियों को 50% का अनुदान देगी। अत्यंत पिछड़ा वर्ग/अनुसूचित जाति/अनुसूचित जाति के लिए 70 प्रतिशत और उद्यमी आधारित 30 फीसद अनुदान दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना का उद्देश्य (Objective)

इस योजना को आरंभ करने का प्रमुख उद्देश्य है कि राज्य के चौर अधिकता वाले जिलों में मछली पालन को बढ़ावा देने के लिए लाभार्थियों को तालाब निर्माण करने पर अनुदान देना। ताकि राज्य में बड़े पैमाने पर मछली पालन का रोजगार सर्जन हो एवं दूसरे प्रांतों से आने वाली मछली की आयात कम हो। यह योजना निजी चौर जल क्षेत्र के ग्रामीणों की आर्थिक स्थिति सुधारने और बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करेगी। Mukhyamantri Samekit Chaur Vikas Yojana के द्वारा से कृषि बागवानी एवं कृषि वानिकी को विकसित करने पर भी जोर दिया जा रहा है। इस योजना के तहत चौर विकास के लिए “लाभुक आधारित चौर विकास” और” उद्यमी आधारित चौर विकास” किया जाएगा।

Bihar Ration Card List

Eligibilities & Important Documents (पात्रता और आवश्यक दस्तावेज)

  • आवेदकों को बिहार का मूल निवासी होना चाहिए।
  • व्यक्तिगत/समूह में आवेदन किया जा सकता है।
  • समूह में न्यूनतम 5 सदस्य होने अनिवार्य है।
  • आधार कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • जीएसटी
  • भूस्वामित्व प्रमाण पत्र
  • लीज एकरारनामा
  • समूह में कार्य करने की सहमति
  • व्यक्तिगत/समूह लाभुकों के द्वारा स्व-अभिप्रमाणित दो पासपोर्ट साइज फोटो
  • उद्यमी लाभुकों के द्वारा स्व-अभिप्रमाणित निबंधन प्रमाण पत्र
  • विगत 3 वर्षों का अंकेक्षण एवं आयकर रिटर्न

मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना 2022 के तहत आवेदन कैसे करें?

  • प्रथम आपको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जाएगा।
मुख्यमंत्री समेकित चौर विकास योजना के तहत आवेदन करें
  • होम पेज पर आपको मत्स्य योजनाओं हेतु आवेदन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • यहां पर आपको दो ऑप्शन मत्स्य योजनाओं में आवेदन हेतु पंजीकरण करें एवं दूसरा पहले से पंजीकृत है।
  • तो लॉगिन करें के विकल्प दिखाई देंगे।
  • अगर आप पंजीकृत नहीं हैं।
  • तो आप मत्स्य योजनाओं में आवेदन हेतु पंजीकरण करके लिंक पर क्लिक करके अपना पंजीकरण कर लें।
  • और फिर जाकर पहले से पंजीकृत है तो लॉगिन करें के विकल्प पर क्लिक कर दें।
  • अब आप अपना रजिस्ट्रेशन एवं पासवर्ड नंबर दर्ज करके लॉगइन के विकल्प पर क्लिक कर दें।
  • इसके पश्चात आप इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं।
Updated: September 22, 2022 — 3:30 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.