मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना: ऑनलाइन आवेदन एवं फॉर्म | लाभ तथा पात्रता

मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, लाभ तथा पात्रता | Mukhyamantri Atmanirbhar Gujarat Yojana Apply Online | आत्मनिर्भर गुजरात योजना उद्देश्य एवं आवश्यक दस्तावेज | Atmanirbhar Gujarat Yojana Registration Form

दोस्तों गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने बुधवार को मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना की शुरुआत की है। इस योजना का मकसद उद्योगों को अलग-अलग तरह की सहायता और प्रोत्साहन देने के अलावा राज्य में विनिर्माण को बढ़ावा देना है। भाजपा शासित गुजरात में विधानसभा चुनाव इस साल के अंत में है मुख्यमंत्री ने कहा है कि गुजरात उद्यमियों का प्रदेश है। राज्य देश का विनिर्माण केंद्र है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के आह्वान को पूरा करने के लिए देश की अगुवाई करने को तैयार है। तो भाइयों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा से Mukhyamantri Atmanirbhar Gujarat Yojana 2023 से संबंधित सभी जानकारी को प्रदान करेंगे।

मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना

Mukhyamantri Atmanirbhar Gujarat Yojana 2023

गुजरात राज्य के सीएम भूपेंद्र पटेल ने राज्य के उद्यमियों के लिए 5 अक्टूबर 2022 को आत्मनिर्भर गुजरात योजना की शुरुआत की है। इस योजना का मकसद उद्योगों को अलग-अलग तरह की सहायता एवं प्रोत्साहन देने के साथ राज्य में विनिर्माण को बढ़ावा देना है। सीएम भूपेंद्र पटेल ने कहा कि गुजरात उद्यमियों का प्रदेश है और राज्य देश का निर्माण केंद्र हैं। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के आह्वान को पूरा करने के लिए देश की अगुवाई करने को तैयार है। साथ ही उन्होंने कहा कि Mukhyamantri Atmanirbhar Gujarat Yojana के द्वारा से उद्योगों को विशेष सहायता मुहैया कराई जा सकेगी। मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना के द्वारा से 15 लाख नागरिकों को रोजगार प्राप्त होगा। एवं वे वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला का हिस्सा बन सकेंगे।

Udyog Aadhaar MSME Registration

मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना 2023 हाइलाइट्स

योजना का नामMukhyamantri Atmanirbhar Gujarat Yojana
शुरू की गईमुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल के माध्यम
उद्देश्यउद्योगों को अलग-अलग तरह की सहायता और प्रोत्साहन देने के अलावा राज्य में विनिर्माण को बढ़ावा देना
लाभार्थीगुजरात राज्य के 15 लाख लोग
राज्यगुजरात
साल2023
आवेदन प्रक्रियाअभी उपलब्ध नहीं है
आधिकारिक वेबसाइटजल्द ही आरंभ की जाएगी
निवेश राशि12.50 लाख करोड़ रुपये

Gujarat CM Helpline

तैयार होगा छोटे बड़े उद्योगों का इकोसिस्टम

मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना के कार्यान्वयन के लिए सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्यम (MSME) एवं मेघा इंटरप्राइजेज को मिलने वाले एप्लॉय लिंक इंडस्ट्रीज अर्थात रोजगार से जुड़े प्रोत्साहन से इंडस्ट्रियल वर्क फोर्स तैयार की जाएगी। जिससे राज्य में गति आएगी। इसके साथ न्यू मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर विकास होने से अनुषांगिक छोटे बड़े उद्योगों का राज्य में एक पूरा इकोसिस्टम तैयार होगा। जो मैन्युफैक्चर सेक्टर में वैश्विक मिसाल बनेगा।

Atmanirbhar Gujarat Yojana के माध्यम उद्यमियों के निवेश के जोखिम को किया जाएगा काम

इस योजना की घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कहा कि आत्मनिर्भर गुजरात स्कीम फॉर असिस्टेंट टू इंडस्ट्रीज के मार्फत राज्य सरकार ने उद्यमियों की उद्यमशीलता एवं उनकी अपेक्षाओं को प्रोत्साहित कर उनके निवेश के जोखिम को कम करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना राज्य में उद्यमियों के लिए नया वातावरण विकसित करेगी। साथ ही नवाचार के द्वारा से युवा उद्यमियों को जॉब क्रिएटर बनने के लिए प्रोत्साहित करेंगी तथा राज्य में Mukhyamantri Atmanirbhar Gujarat Yojana के माध्यम से ज्यादा संख्या में नौकरी के अवसर पैदा होंगे।

12 लाख करोड़ का निवेश और 15 लाख रोजगार के लिए अवसर

सीएम भूपेंद्र पटेल ने कहा कि गुजरात की तकरीबन 33 लाख एमएसएमई इकाइयों का भारत देश के मैन्युफैक्चरिंग आउटपुट में सबसे बड़ा योगदान है। गुजरात निर्यात के मामले में भी देशभर में अग्रणी है। इस योजना के द्वारा से गुजरात आने वाले वक्त में देश के मैन्युफैक्चर परिदृश्य में आत्मनिर्भर के साथ अपना विशेष स्थान बनाएगा। एक अनुमान के अनुसार मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना के माध्यम से राज्य में 12.50 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा। जिसके चलते राज्य में करीब-करीब 15 लाख रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।

NIRYAT Portal

Mukhyamantri Atmanirbhar Gujarat Yojana Objective (उद्देश्य)

गुजरात के सीएम ने 12.50 लाख करोड़ रुपये के निवेश को आकर्षित करने एवं 15 लाख नागरिकों के लिए रोजगार अवसर पैदा करने के लक्ष्य से उद्योगों को सहायता के लिए मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना का प्रमुख उद्देश्य उद्योगों को आकर्षित करना है। साथ ही उत्पादकों को सहयोग प्रदान कर रोजगार एवं मैन्युफैक्चर क्षेत्रों में गुजरात को आत्मनिर्भर बनाना है। गुजरात सरकार आत्मनिर्भर होकर प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के सपनों को साकार करने के लिए तत्पर है। Mukhyamantri Atmanirbhar Gujarat Yojana 2023 के माध्यम से लाखों लोगों को लाभान्वित किया जाएगा जिससे बेरोजगारी दर में भी कमी आएगी और यही इस योजना को आरंभ करने का प्रमुख उद्देश्य है।

मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना के लाभ (Benefits)

  • उद्योगों को निश्चित या स्थाई पूंजी निवेश का 75% का फायदा 10 वर्षों तक मिलेगा।
  • 35 लाख रुपए तक की कैपिटल सब्सिडी माइक्रो इंडस्ट्रीज के लिए मिलेगी।
  • 7 वर्षों तक 35 लाख रुपए तक की वार्षिक ब्याज सब्सिडी एमएसएमई के लिए प्रदान की जाएगी।
  • 10 वर्षों के लिए इपीएफ रिइवर्समेंट को मिलेगा लाभ।
  • विद्युत शुल्क से 5 वर्षों के लिए मुक्ति।
  • युवाओं एवं महिलाओं तथा दिव्यांग उद्यमियों के लिए अतिरिक्त इंसेंटिव्स।

पीएम मोदी का फोन नंबर

बड़े उद्योगों को मिलने वाला फायदा

  • बड़े उद्योगों को 12% तक की सब्सिडी फिक्स कैपिटल इन्वेस्टमेंट पर
  • 10 वर्षों के लिए इपीएफ रिइवर्समेंट
  • उद्योगों को निश्चित या स्थाई पूंजी निवेश का 75% का फायदा 10 वर्षों तक
  • विद्युत शुल्क से 5 वर्षों के लिए मुक्ति

Mukhyamantri Atmanirbhar Gujarat Yojana के अंतर्गत आवेदन करें

दोस्तों गुजरात के मुख्यमंत्री श्री माननीय भूपेंद्र पटेल के माध्यम से 5 अक्टूबर 2022 को मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात योजना की घोषणा की गई है। लेकिन इस योजना के अंतर्गत अभी ऑनलाइन आवेदन या ऑफलाइन आवेदन करने की कोई भी प्रक्रिया सरकार द्वारा निर्धारित नहीं की गई है जैसे ही सरकार के माध्यम से Mukhyamantri Atmanirbhar Gujarat Yojana से संबंधित कोई भी आवेदन प्रक्रिया की पुष्टि की जाती है। तो हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा से जरूर बताएंगे। योजना से संबंधित ताजा जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे इस आर्टिकल के साथ बने रहे।

Updated: December 8, 2022 — 1:23 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *