परंपरागत कृषि विकास योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन PKVY Scheme Registration

सेंट्रल गवर्नमेंट के माध्यम नागरिकों के लिए परंपरागत कृषि विकास योजना 2022 (PKVY) को आरंभ किया गया है इस योजना की घोषणा देश के किसान नागरिकों को जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से की गई है Paramparagat Krishi Vikas Yojana के अंतर्गत किसान नागरिकों को जैविक कृषि करने हेतु मदद दी जाएगी। PKVY Scheme को सॉइल हेल्थ योजना के तहत शुरू किया गया है परंपरागत कृषि विकास योजना के तहत आधुनिक विज्ञान के मिश्रण को जैविक खेती के स्थाई मॉडल के रूप में विकास को सुनिश्चित किया जाएगा इसका मुख्य कार्य मिट्टी की उर्वरता को बढ़ाना है यह कृषि रसायनों का इस्तेमाल किए बिना जैविक क्रिया के तहत स्वस्थ भोजन के उत्पादन में सहयोग करता है और आपको इस आर्टिकल में यह योजना से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त होगी तथा आप इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

Paramparagat Krishi Vikas Yojana 2022

परंपरागत कृषि विकास योजना 2022 के द्वारा से किसान भाइयों को जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा इसके लिए योजना के माध्यम से किसान नागरिकों को आर्थिक सहयोग विवरण किया जाएगा यह कृषि के क्षेत्र में ऑर्गेनिक रूप से उत्पादन करने के लिए एक बेहतर कदम उठाया गया है जिसमें मिट्टी की गुणवत्ता को बढ़ावा दिया जाएगा यह योजना आधुनिक रूप में उन्नति के अंतर्गत खेती के स्थाई स्वरूप को विकसित करने में एक विशेष प्रकार की सहायता का अवसर प्रदान करेगा साथ ही जैविक खेती करने के लिए किसान भाइयों को योजना के अंतर्गत 3 साल की अवधि के लिए 50000 रुपये की आर्थिक मदद प्राप्त होगी इस राशि में से किसानों को बीजों एवं जैविक उर्वरकों और कीटनाशकों के लिए 31000 रुपये की राशि का सहयोग मिलेगा।

परंपरागत कृषि विकास योजना

परंपरागत कृषि विकास योजना 2022 हाइलाइट्स   

योजना का नामपरंपरागत कृषि विकास योजना 2022
किसने आरंभ कीभारत सरकार
उद्देश्यजैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना।
लाभार्थीकिसान
साल2022
आवेदन का प्रकारऑनलाइन/ऑफलाइन
वित्तीय सहायता50000 रुपये
आधिकारिक वेबसाइट Click here

ई ग्राम स्वराज पोर्टल

Paramparagat Krishi Vikas Yojana 2022 Objective (उद्देशय)

दोस्तों यह योजना का प्रमुख उद्देश्य है कि किसानों को जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना है इस योजना के अंतर्गत किसानों को जैविक खेती करने के लिए आर्थिक मदद प्रदान की जाएगी यह योजना मिट्टी की गुणवत्ता बढ़ाने में भी लाभकारी साबित होगी इसके अलावा परंपरागत कृषि विकास योजना 2022 के द्वारा से रसायनिक मुक्त एवं पौष्टिक भोजन का उत्पादन हो सकेगा क्योंकि जैविक खेती में कम कीटनाशकों का इस्तेमाल किया जाता है परंपरागत कृषि विकास योजना देश के नागरिकों की सेहत में सुधार करने के लिए भी उपयोगी साबित होगी इस योजना को जैविक खेती को क्लास्टर मोड में बढ़ावा देने के उद्देश्य से भी आरंभ किया गया है।

PKVY परंपरागत कृषि विकास योजना 2022 लाभ एवं विशेषताएं

  • यह कृषि से संबंधी उत्पादों को जैविक रूप में खेती करने के लिए किसानों को प्रोत्साहित करती है।
  • किसानों नागरिकों को ऑर्गनिक रूप में खेती करने का अवसर मिलेगा।
  • और साथ ही योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता के लिए आवेदन करने वाले सभी किसानों को सहायता प्रदान करना|
  • योजना के माध्यम से बिना रसायनों का उपयोग किये बिना जैविक रूप से कृषि क्षेत्र में पौष्टिक उत्पादों का उत्पादन करना है।
  • साथ ही ये योजना मिट्टी में भी गुणवत्ता बढ़ाने में अत्यधिक महत्वपूर्ण साबित हो पाएगी|
  • परंपरागत कृषि विकास योजना 2022 के कार्यान्वयन के लिए पिछले 4 सालों की अवधि में 1197 करोड़ रूपए की राशि खर्च की गयी है।
  • किसान नागरिकों के बैंक खाते में योजना से मिलने वाली सहायता राशि को उनके बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर किया जायेगा।
  • योजना के माध्यम से किसान नागरिकों को ऑर्गनिक रूप में खेती करने के लिए आर्थिक सहयोग सरकार के द्वारा प्रदान किया जायेगा।
  • Paramparagat Krishi Vikas Yojana को सन 2015-16 में रसायनिक मुक्त जैविक खेती को क्लस्टर मोड में बढ़ावा देने के लिए शुरू किया गया था।
  • किसान नागरिकों को पीकेवीआई के माध्यम से बीजों कीटनाशकों ,जैविक उर्वरक हेतु 31 हजार रूपए की राशि प्रदान की जाती है।
  • 3 वर्ष की अवधि के लिए किसान नागरिकों को Paramparagat Krishi Vikas Yojana के अंतर्गत 50 हजार प्रति हेक्टयेर के अनुसार सहायता राशि प्रदान की जाएगी।
  • 50 एकड़ या 20 हेक्टेयर के क्लस्टर के लिए अधिकतम ₹1000000 की आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

परंपरागत कृषि विकास योजना 2022 पात्रता (Eligibility)

  • किसान नागरिक की आयु Paramparagat Krishi Vikas Yojana हेतु 18 वर्ष से ऊपर होनी चाहिए।
  • केवल किसान श्रेणी के नागरिक ही योजना हेतु आवेदन करने के पात्र माने जायेंगे।
  • भारत के सभी मूल निवासी किसान नागरिक PKVY Scheme में आवेदन करने हेतु पात्र माने जायेंगे।

Important Documents (आवश्यक दस्तावेज)

  • पहचान पत्र
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • आवेदक किसान नागरिक की पासपोर्ट साइज फोटो
  • राशन कार्ड
  • जन्म प्रमाण पत्र

परंपरागत कृषि विकास योजना 2022 के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले परंपरागत कृषि विकास योजना (PKVY) की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
परंपरागत कृषि विकास योजना
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको अप्लाई नाउ के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने आवेदन पत्र खुल कर आ जाएगा।
  • अब आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज कर देना है।
  • इसके बाद आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड कर देना है।
  • अब आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर देना है।

पोर्टल पर लॉगइन कैसे करे?

  • सबसे पहले आपको परंपरागत कृषि विकास योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आ जाएगा।
परंपरागत कृषि विकास योजना
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने डायलॉग बॉक्स खुलकर आ जाएगा।
  • अब आपको इस डायलॉग बॉक्स में अपना यूजरनेम, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज कर देना है।
  • इसके बाद आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपकी लॉगिन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
Updated: June 1, 2022 — 7:47 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.