[ऑनलाइन आवेदन ] बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना 2019 |एप्लीकेशन फॉर्म

432

दोस्तों केंद्र की मोदी सरकार द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Yojana) का शुभारम्भ एक सराहनीय कदम है। हमारे देश को आज़ादी मिले हुए ७० साल हो गए है पर आज भी हामरे देश में बेटिया आज़ादी के साथ नहीं जी पा रही है। केंद्र सरकार का यह कदम निश्चित रूप से लिंग समानता लाने में कारगर साबित होगा। इस लेख में हम आपको Bati Bachao Beti Padhao योजना के बारे में विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराएँगे।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की जानकारी हिंदी में

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को बेटियों के कल्याण,जन्म व जीवन की रक्षा हेतु प्रारम्भ किया गया है। इस कदम से न सिर्फ बेटियों के जन्म व जीवन की रक्षा होगी साथ ही हम देश में लिंग समानता की और एक कदम आगे आएंगे। भारत में 2001 की जनगणना के आंकड़ों के अनुसार 0-6 वर्ष की उम्र की बच्चियों का आंकड़ा 1000 लड़कों के अनुपात में सिर्फ 927 है। यह संख्या 2010 की जनगणना में घटकर 1000 लड़कों के अनुपात में 918 लड़कियों तक पहुंच गयी है।

सम्बंधित – श्रेयस योजना 2019 | छात्रों को स्किल डेवलपमेंट व ट्रेनिंग कोर्स

beti bachao beti padhao yojana

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना उद्देश्य

इस आंकड़ों के मद्देनजर अब हम सभी को सचेत होने की आवश्यकता है क्योकि लिंग अनुपात में असमानता मानव के अस्तित्व के समाप्ति का संकेत है। परन्तु अब केंद्र सरकार इस दिशा में ठोस कदम उठा रही है और हम आशा करते है की आगे भी केंद्र व राज्य सरकारे इस दिशा में कार्य करती रहैंगी। इसके साथ-साथ हमें लड़कियों के जन्म को लेकर समाज में व्याप्त भ्रांतियों को भी दूर करने की आवश्यकता है। इसी क्रम में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 22 जनवरी 2015 को हरियाणा के पानीपत में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को लागु करने के निर्देश दिए गए है।

Note – बताते चले की इस समय देश के गुजरात राज्य में  7 फ़रवरी, 2018 के एक आंकड़े के अनुसार लिंग अनुपात में असमानता की दर सबसे अधिक प्रति 1000 पुरषो पर 854 महिलाओ तक सिमट चुकी है जबकि हरियाणा दूसरे स्थान पर है।

Beti Bachao Beti Padhao योजना की उपयोगिता

  • लिंग अनुपात में समानता व समय पूर्व गर्भ में बतियो की हत्या (भूर्ण हत्या) को रोकने के लिए यह एक कल्याणकारी कदम साबित होगा।
  • बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ योजना से बेटियों को शिक्षा के बेहतर अवसर प्राप्त होंगे तथा वह आत्मनिर्भर व सशक्त होंगी।
  • यह योजना जन्म से पूर्व व जन्म के पश्चात् बेटियों के सुरक्षित जीवन के सपने को साकार करेगी जिससे की बेटिया अच्छी शिक्षा हासिल कर समाज में सम्मान व बदलाव की साक्षी बने।
  • इस योजना को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 22 जनवरी 2015 को अमल में लाया गया था।
  • यह योजना हमारे देश के लिए एक बहुत उपयोगी योजना है क्योकि जिस तरह हमारे देश में साल दर साल लड़कियों की संख्या में गिरावट आ रही है ऐसी स्थिति में इस योजना के द्वारा लोगो की मानसिकता में बदलाव संभव है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम MISSION

  • हम सभी का लक्ष्य होना चाहिए की हम लिंग पक्षपात को कम  कर लिंग के चयन की रोकथाम के लिए अपने स्तर पर प्रयास करे –
  • बालिकाओ के अस्तित्व की सुरक्षा व उनकी शिक्षा सुनिश्चित करना –
  • हर उस क्षेत्र में जिसमे आज केवल लड़को की भागेदारी है वहा  बालिकाओ की भागीदारी सुनिश्चित करना –

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम का उद्देश्य

  • केंद्र की इस योजना का उद्देश्य बालिकाओ के सर्वागीण विकास को बढ़ावा देना और उनमे डर की भावना को खत्म करना है ताकि वह आगे आकर एक बेहतर समाज का निर्माण में सहायक बने।
  • यह योजना पक्षपाती लिंग चयन प्रक्रिया के उन्मूलन को समर्थन देती है।
  • लिंग अनुपात में समानता तथा बालिकाओ की शिक्षा सुनिश्चित करना।

Beti Bachao Beti Padhao Scheme के फायदे

  • इस योजना में सरकार बेटियों की शिक्षा के लिए आर्थिक मदद उपलब्ध कराएगी।
  • इस योजना से भ्रूण हत्या में गिरावट आएगी और हम भूर्ण समानता की और आगे बढ़ेंगे।
  • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत सरकार बेटियों की उच्च शिक्षा व उनके विवाह हेतु सहायता उपलब्ध कराएगी।
  • योजना लड़के व लड़कियों के बीच भेदभाव को खत्म करने में सहायक होगी।

Beti Bachao Beti Padhao Scheme योग्यता

  • इस योजना को आप बच्ची के जन्म से 10 वर्ष की आयु तक शरू करवा सकते है।
  • यह योजना भारत देश के स्थायी निवासियों के लिए लागु है। NRI इस योजना का लाभ नहीं ले सकते।
  • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को लाभ बेटी के जन्म के समय ही शरू करने पर अधिक लाभ प्राप्त होगा।

 Beti Bachao Beti Padhao Scheme जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवास प्रमाण पत्र
  • माता-पिता का पहचान पत्र

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत जमा की गयी राशि तथा बैंक द्वारा वापस की गयी राशि

  • इस योजना के तहत बेटी के जन्म से 14 वर्ष की आयु तक राशि बैंक में जमा की जाएगी।
  • इसके पश्चात् बेटी के 18 वर्ष का होने पर आप इस राशि को शिक्ष खर्च के लिए निकलवा सकते है।
  • यह योजना बिटिया के 21 वर्ष का होने पर बंद हो जाएगी तथा आपको पूरी रकम दे दी जाएगी।

बैंक में हर महीने 1000 रुपये जमा कराने पर –

  • यदि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत बिटिया के खाते में प्रति माह 1000 रूपये के हिसाब से राशि जमा की जाये तो आपके द्वारा 14 वर्षो में कुल 1,68,000 की राशि जमा की जाएगी। 
  • अब आपको योजना के अनुसार 60,7,128 (छः लाख सात हजार एक सो अठ्ठाइस) रूपये की राशि प्रदान की जाएगी।

बैंक खाते में 1.5 लाख प्रति वर्ष जमा करवाने पर –

  • इस  खाते में प्रति वर्ष 1.5 लाख की राशि जो की अधिकतम है जमा करवाने पर आपके द्वारा खाते में 14 वर्षो में कुल 21 लाख रू जमा होंगे।
  • अब खाते के परिपक़्व होने पर आपको 72 लाख रूपये प्रदान किये जायेंगे।
  • बिटिया की उम्र 18 वर्ष होने पर इस खाते से 50% धनराशि बिटिया की शादी अथवा पढाई हेतु निकाली जा सकती है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना हेतु आवेदन प्रक्रिया

  • अगर आप बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना हेतु आवेदन करना चाहते है तो आपको अपने नजदीकी बैंक शाखा अथवा आंगनवाड़ी केंद्र में संपर्क करना होगा। यहाँ आपको Bachao Beti Padhao Yojana Application Form मिल जायेगा।
  • अब इस फॉर्म में आपको अपनी सभी सम्बंधित जानकारी होगी।
  • इसके बाद आपको फॉर्म में दिए गए सभी दस्तावेजों के साथ इस फॉर्म को बैंक में कराना होगा।

[table id=108 /]

केंद्र तथा राज्य सरकार की योजनाओ की अधिक जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट www.cmhelpline.in पर जा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here