उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना आरंभ हुई, अनाथ बच्चों को शिक्षा देगी राज्य सरकार

उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना ऑनलाइन आवेदन करें, लाभ तथा पात्रता जानें | Mukhyamantri Balashray Yojana 2023 Online Registration

दोस्तों भारत देश का हर एक बच्चा शिक्षित हो इसके लिए सेंट्रल गवर्नमेंट और सभी राज्य सरकारें मिलकर पूरी दृढ़ता के साथ शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रही है। ताकि भारत देश के सभी बच्चों के भविष्य को उज्जवल बनाया जा सके। अभी हाल ही में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी जी ने अपने राज्य में अनाथ बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए एक नई योजना का आरंभ किया है। जिसका नाम उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना है। इस योजना के द्वारा से किसी भी तरह की आपदा महामारी एवं दुर्घटना की वजह से अनाथ हुए बच्चों को पहली कक्षा से लेकर बारहवीं कक्षा तक की पढ़ाई राज्य सरकार द्वारा करवाई जायेगी। तो भाइयों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा से Uttrakhand Mukhyamantri Balashray Yojana 2023 से संबंधित सभी जानकारी को प्रदान करेंगे। यह भी पढ़ें- उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना

Mukhyamantri Balashray Yojana

Uttrakhand Mukhyamantri Balashray Yojana 2023

भाइयों 5 सितंबर 2022 को शिक्षक दिवस के अवसर पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी सिंह ने मुख्यमंत्री आवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम के दौरान उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना को आरंभ करने की घोषणा की है। इस योजना के माध्यम राज्य के उन बच्चों की स्कूली शिक्षा कक्षा 1 से लेकर 12वीं तक की व्यवस्था राज्य सरकार के माध्यम करवाई जाएगी। जो किसी भी तरह की महामारी, आपदा और दुर्घटना की वजह से अनाथ हुए हैं। स्कूली शिक्षा की व्यवस्था के साथ-साथ इन बच्चों को किताबें, ड्रेस, जूते, मौजे, लिखने पढ़ने की सभी सामग्री भी निशुल्क दी जाएगी। अब Mukhyamantri Balashray Yojana के द्वारा से किसी भी आपदा, महामारी और दुर्घटना की वजह से अनाथ हुए बच्चे अपनी स्कूली शिक्षा प्राप्त करने से वंचित नहीं रहेंगे। यह योजना राज्य में पात्र अनाथ बच्चों की शिक्षा को बढ़ावा देगी एवं उन्हें शिक्षित करने में उत्तराखंड सरकार को सहयोग करेगी।

Uttarakhand Free Laptop Scheme

उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना 2023 हाइलाइट्स

योजना का नामउत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना
घोषित की गईमुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के माध्यम
उद्देश्यअनाथ बच्चों को कक्षा 1 से लेकर 12वीं कक्षा तक की स्कूली शिक्षा को प्रदान करना
लाभार्थीकिसी भी तरह की आपदा, महामारी एवं दुर्घटना की वजह से अनाथ हुए बच्चे
घोषित तिथि5 सितंबर सन 2022
साल2023
राज्यउत्तराखंड
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन मोड
आधिकारिक वेबसाइटअभी मालूम नहीं है

Uttrakhand Mukhyamantri Balashray Yojana Objective (उद्देशय)

उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना का शुभारंभ करने का प्रमुख उद्देश्य है कि उन अनाथ बच्चों को स्कूल शिक्षा प्रदान करना है जो किसी भी तरह की महामारी, आपदा और दुर्घटना के कारण अनाथ हुए हैं। इस योजना के द्वारा से इन बच्चों को पहली कक्षा से लेकर बारहवीं कक्षा तक की स्कूल शिक्षा की व्यवस्था राज्य सरकार के माध्यम वहन करवाई जाएगी। इस योजना का यही लक्ष्य है कि उत्तराखंड के अनाथ बच्चे अपने माता-पिता के बिना स्कूल जाने से वंचित ना रहे एवं बिना फीस की चिंता किए बिना निरंतर स्कूल जाकर अपनी शिक्षा को हासिल कर सके। क्योंकि बहुत बार देखा गया है कि जब बच्चे अनाथ हो जाते हैं तो वह फीस की वजह से निरंतर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने से वंचित रह जाते हैं।

परंतु अब Uttrakhand Mukhyamantri Balashray Yojana के द्वारा से आपदा, दुर्घटना और महामारी की वजह से अनाथ हुए बच्चे राज्य सरकार की सहायता से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त कर पाएंगे।

उत्तराखंड CM हेल्पलाइन नंबर

उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना के लाभ और विशेषताएं (Benefits & Qualities)

  • सीएम पुष्कर धामी सिंह जी के माध्यम 5 सितंबर 2022 शिक्षक दिवस के अवसर पर Uttrakhand Mukhyamantri Balashray Yojana को शुरू करने की घोषणा की गई है।
  • यह घोषणा मुख्यमंत्री जी के माध्यम अपने आवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम के दौरान की गई है।
  • इस योजना के द्वारा से राज्य सरकार के माध्यम किसी भी तरह की आपदा, महामारी और दुर्घटना की वजह से अनाथ हुए बच्चों की स्कूली शिक्षा की व्यवस्था करवाई जाएगी।
  • यानी राज्य सरकार ऐसे सभी बच्चों को कक्षा 1 से लेकर 12वीं कक्षा तक की शिक्षा निशुल्क प्रदान करवाएगी।
  • साथ ही उन्हें किताबें, ड्रेस, जूते, मोजे एवं लिखने पढ़ने की सभी सामग्री भी निशुल्क प्रदान करेगी।
  • यह योजना राज्य में आपदा, महामारी और दुर्घटना के कारण अनाथ हुए बच्चों की स्कूली शिक्षा को बढ़ावा देगी।
  • एवं उनके भविष्य को उज्जवल बनाएगी।
  • उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना के तहत पात्र अनाथ बच्चे बिना फीस की चिंता किए बिना अपनी स्कूली शिक्षा को अच्छे से पूरी कर सकेंगे।
  • उत्तराखंड के मुख्यमंत्री शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए अलग-अलग तरह की कोशिश करते रहते हैं।
  • यह योजना भी शिक्षा के क्षेत्र में उनका एक सकारात्मक प्रयास ही है।

Uttrakhand Mukhyamantri Balashray Yojana Eligibilities (पात्रता)

  • आवेदक को उत्तराखंड का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • सिर्फ किसी आपदा, महामारी एवं दुर्घटना की वजह से अनाथ हुए बच्चे ही उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना के तहत आवेदन करने के पात्र हैं।

Mukhyamantri Balashray Yojana Important Documents (आवश्यक दस्तावेज)

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • माता-पिता की मृत्यु का प्रमाण पत्र (जिस आपदा, महामारी, दुर्घटना की वजह से मृत्यु हुई हो)
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

PM Kaushal Vikas Yojana

उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना के तहत आवेदन कैसे करें?

दोस्तों जो इच्छुक पात्र अनाथ बच्चे उत्तराखंड मुख्यमंत्री बालश्रय योजना 2023 के तहत आवेदन करके शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं। तो अभी उन्हें इस योजना के लॉन्च होने तक का इंतजार करना होगा। क्योंकि सीएम जी के माध्यम शिक्षक दिवस के अवसर पर इस योजना को अभी सिर्फ शुरू करने की घोषणा की गई है। जल्द ही राज्य सरकार एवं शिक्षा विभाग इस योजना को राज्य में लांच करेगी। जब राज्य में इस योजना को लांच किया जाएगा एवं इसके तहत आवेदन की प्रक्रिया की जानकारी सार्वजनिक की जाएगी। तब हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा से इन सभी जानकारी के बारे में सूचित कर देंगे इसलिए आपसे निवेदन है कि Mukhyamantri Balashray Yojana से जुड़ी आवेदन प्रक्रिया एवं अन्य अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे इस आर्टिकल के साथ जुड़े रहे।

Updated: January 31, 2023 — 10:04 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *