Mukhymantri Bal Gopal Yojana, 1 से लेकर 8वीं कक्षा तक के बच्चों को हफ्ते में 2 दिन मिलेगा दूध

Mukhymantri Bal Gopal Yojana क्या है | मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना का लाभ प्राप्त कैसे करें | Rajasthan Mukhymantri Bal Gopal Yojana का उद्देश्य, पात्रता व अन्य सभी जानकारी जाने

गरीब परिवारों से संबंध रखने वाले स्कूली बच्चों को निरंतर प्रोत्साहित करने के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी तरहां-तरहा की योजनाएं लाते रहते हैं।‌ योजनाओं की इसी श्रंखला में 29 नवंबर 2022 के दिन अशोक गहलोत जी ने स्कूली बच्चों के लिए एक नई योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना का नाम मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना है। इस योजना के माध्यम से राज्य के 1 कक्षा से लेकर 8वीं कक्षा तक के लगभग 67 लाख स्कूली बच्चों को लाभान्वित किया जाएगा। तो आइए विस्तार पूर्वक जानते हैं कि क्या है Mukhymantri Bal Gopal Yojana और राजस्थान सरकार‌ का इसे शुरू करने का मुख्य उद्देश्य, लाभ एवं विशेषताएं, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि के बारे में।

Mukhymantri Bal Gopal Yojana क्या है?

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा सिविल लाइन जयपुर में Mukhymantri Bal Gopal Yojana 2022 का शुभारंभ किया गया है। इस योजना को शुरू करने की घोषणा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी ने गत बजट में की थी। इस योजना के माध्यम से 1 से लेकर 8वीं कक्षा तक के स्कूली बच्चों को मिड डे मील के अलावा स्कूल में 2 दिन मंगलवार और शुक्रवार को दूध का वितरण किया जाएगा। मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत दूध पाउडर बांटने की जिम्मेदारी राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद को सौंपी गई है। राज्य के 67 लाख स्कूली बच्चों को इस योजना का लाभ प्राप्त होगी।

  • कक्षा 1 से लेकर 5 तक के बच्चों को 150 मिली लीटर और कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों को 200 मिली लीटर मिल्क पाउडर से बने दूध का वितरण किया जाएगा।
  • सरकार द्वारा पाउडर मिल्क एवं आपूर्ति राजस्थान कोऑपरेटिव डेयरी फाउंडेशन लिमिटेड से की जाएंगी।

Rajasthan Free Mobile Yojana Lis

Mukhymantri Bal Gopal Yojana

Overview Of Mukhymantri Bal Gopal Yojana

योजना का नाममुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना
किसने आरंभ कीमुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा
कब शुरू की गई29 नवंबर 2022 को
उद्देश्य1 कक्षा से लेकर 8वीं कक्षा तक के बच्चों को दूध उपलब्ध करवाना
लाभार्थीप्राइमरी विद्यालयों, मदरसो, विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में पढ़ रहे 1 कक्षा से लेकर 8वीं कक्षा तक के बच्चे
साल2022
Official Websitehttps://education.rajasthan.gov.in/content/raj/education/elementary-education/hi/home.html

राजस्थान मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना 2022 का उद्देश्य

इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के कक्षा 1 से लेकर 8वीं स्कूली छात्रों को निशुल्क दूध पाउडर वितरित करना है। ताकि राज्य के गरीब स्कूली बच्चों जो कुपोषण के शिकार उन्हें इस बीमारी से बचाया जा सके। राजस्थान ‌बाल गोपाल दूध योजना 2022 के माध्यम से राज्य में स्कूली शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा। जिससे बच्चे शिक्षा की ओर आकर्षित होंगे और राज्य में अशिक्षित दर में कमी आएगी। गहलोत सरकार द्वारा शुरू की गई है| Rajasthan Mukhymantri Bal Gopal Yojana का मुख्य उद्देश्य सरकारी स्कूलों में मिड डे मील में सुबह के समय बच्चों को दूध देना है। ताकि स्कूली छात्रों की उपस्थिति में वृद्धि हो सके और ड्रॉपआउट में कमी आए। इसके अलावा स्कूली बच्चों के पोषण स्तर में वृद्धि हो सके और उन्हें आवश्यक न्यूट्रिशन मिल सके।

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना की शुरुआत की गई है।
  • Rajasthan Mukhymantri Bal Gopal Yojana को शुरू करने की घोषणा मुख्यमंत्री जी ने गत वर्ष के बजट में की थी।
  • इस योजना के माध्यम से मिड डे मील से जुड़े राजस्थान के विद्यालय, प्राइमरी विद्यालय, मदरसों, विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में छात्र छात्राओं को दूध का पाउडर उपलब्ध कराया जाएगा।
  • कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों को सप्ताह में 2 दिन अर्थात मंगलवार एवं शुक्रवार को मिल्क पाउडर उपलब्ध कराया जाएगा।
  • अगर इन दिनों किसी वजह से अवकाश होता है तो उसके अगले दिन दूध का वितरण किया जाएगा।
  • सरकार कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को 15 ग्राम पाउडर दूध से 150 मिलीमीटर दूध और कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के लिए 20 ग्राम पाउडर दूध से 200 मिलीमीटर दूध स्कूलों द्वारा पीने के लिए देगी।
  • मिड डे मील की सहायता से हर जिले में मिल्क पाउडर बांटा जाएगा एवं मिल्क पाउडर का वितरण आरसीडीएफ द्वारा प्रत्येक विद्यालय में जाकर किया जाएगा।
  • विद्यालय प्रबंधन की बच्चों को दूध देने की जिम्मेदारी होगी और दूध की गुणवत्ता को मापने की जिम्मेदारी विद्यालय प्रबंधन समिति तथा आरसीडीएफ की होगी।
  • यह योजना बच्चों को कुपोषण का शिकार होने से बच आएगी और उन्हें स्कूल में दाखिला लेने के लिए प्रोत्साहित होंगे। जिससे शिक्षा ग्रहण करने में भी सुधार होगा।
  • इस योजना के माध्यम से राजस्थान के लगभग 67 लाख बच्चों को लाभ की प्राप्ति होगी।

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत पात्रता

  • इस योजना के तहत मिड डे मील योजना से लाभान्वित प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों, मदरसों, स्पेशल ट्रेनिंग सेंटर में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं पात्र होंगे।
  • केवल राजस्थान के कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों को प्रदान किया जाएगा।
Updated: December 1, 2022 — 11:10 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *