Ayushman Bharat Helpline Number: आयुष्मान भारत योजना टोल फ्री नंबर स्टेट वाइज

Ayushman Bharat Helpline Number | आयुष्मान भारत योजना का टोल फ्री नंबर क्या है | PMJAY Toll Free Helpline Number | आयुष्मान भारत हेल्पलाइन नंबर स्टेट वाइज |

जैसा की हम सभी जानते है भारत सरकार दुवारा गरीब और बेसहारा परिवारों को आयुष्मान योजना के माध्यम से हर वर्ष 5 लाख रूपये तक का मुफ्त इलाज उपलब्ध कराया जाता है| इस योजना का लाभ आप सभी नागरिको को मिल रहा है या नहीं या फिर आपकी कोई भी शिकायत है| ये सभी ज़रूरी बाते दर्ज करने के लिए के लिए आपको अब कही भी जाने की आवश्यकता नहीं होगी| क्यूंकि  सरकार दुवारा हाल ही में आयुष्मान भारत योजना का टोल फ्री नंबर शुरू कर दिया है| इस नंबर का इस्तेमाल कर आप सभी आयुष्मान योजना से जुडी सुविधांए और योजना से जुडी सेवाए जानने के लिए कॉल कर सकते है और  योजना से जुडी सभी समस्या का समाधान आप अपने घर बैठे मोबाईल फ़ोन के माध्यम से प्राप्त सकते है|

तो दोस्तों यदि आपको Ayushman Bharat Helpline Number जानना है और उससे जुडी सुविधाओं के बारे में जानना है तो उसके लिए आपको हमारे इस लेख से अंत तक जुड़े रहना है |

आयुष्मान भारत योजना का हेल्पलाइन नंबर क्या है?

Ayushman Bharat Yojana के तहत मिलने वाले लाभ आप सभी नागरिको तक पहुंचाने के लिए एक टोल फ्री नंबर का आरम्भ किया गया है | यह  टोल फ्री नंबर कुछ इस प्रकार है 14555 | Ayushman Bharat Helpline Number को देश के हर एक राज्य में लागू कर दिया गया है| इस नंबर के अंतर्गत आप आयुष्मान भारत योजना से जुडी किसी भी प्रकार की समस्या को आसानी से दर्ज कर पाएगे| यदि आपको योजना से मिलने वाली सुविधांए समय पर नहीं मिल पा रही है तो उसके लिए आपको किसी भी सरकारी कार्यालय या किसी भी सेण्टर पर जाने की ज़रूरत नहीं होगी| अब आप ये सभी जानकारी अपने घर बैठे 14555 पर काल कर जान सकते है| इस नंबर के माध्यम से आपका समय और पैसे दोनों की ही बचत हो पाएगी| इस नंबर का इस्तेमाल कर आप योजना से मिलने वाले लाभ घर बैठे प्राप्त कर पायगे|  

Ayushman Bharat Yojana List

Ayushman Bharat Helpline Number

Overview Of Ayushman Bharat Helpline Number

आर्टिकल का नामAyushmaan Bharat Helpline Number/Toll Free Number
किस योजना के अंतर्गतAyushmaan Bharat Yojana
उद्देश्यराज्य के नागरिको योजना से जुडी सभी जानकारी खुद से प्राप्त कराना
लाभार्थीदेश के सभी नागरिक
वर्ष2023
आधिकारिक वैबसाइटhttps://pmjay.gov.in/

आयुष्मान भारत हेल्पलाइन नंबर/टोल फ्री नंबर से जुडी ज़रूरी बातें

भारत सरकार दुवारा आयुष्मान भारत योजना के तहत 14555 टोल फ्री नंबर को शुरू किया गया है जिससे की देश के हर राज्य के नागरीक आसानी से योजनाओ का लाभ प्राप्त कर सके| इसके अलावा राज्यों नें भी अपने स्तर पर अलग-अलग आयुष्मान योजना टोल फ्री नंबर जारी किए हैं। जैसे की  मध्य प्रदेश सरकार दुवारा अपने राज्य के नागरिको के लिए आयुष्मान योजना के तहत  18002332085 टोल फ्री नंबर दिया गया है| उसी प्रकार बिहार सरकार दुवारा नागरिको को शिकायत दर्ज करने के लिए 104 टोल फ्री नंबर दीया गया है| उत्तराखंड सरकार ने अपने राज्य के नागरीको के लिए टोल फ्री नंबर 155368 और 18001805368 को शुरू किया गया है| इस प्रकार देश के सभी राज्यों में आयुष्मान भारत योजना के तहत अलग अलग नंबर दिया गया है | जिससे  की सभी को योजना से जुडी सभी जानकरी आसानी से मिल पाए|

Ayushman Bharat Yojana Toll Free Number का उद्देश्य

इस टोल फ्री नंबर को शुरू करने का उद्देश्य योजना के अंतर्गत आने वाली समस्याओ का समाधान देश के सभी नागरिको को घर बैठ ही आसानी से दिया जा सके| ताकि ज़रूरतमंद नागरिक जो की आयुष्मान भारत योजना से जुड़े है उन सभी को समय पर इलाज और सहायता मिल पाएगी| राज्य में ऐसे बहुत से नागरिक है जो की योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर देते है किन्तु उन्हें योजना से कोई लाभ नहीं मिल पाता है| इस प्रकार की समस्या का समाधान निकालने के लिए आप योजना के टोल फ्री नंबर पर कॉल लगाकर आसानी से अपनी समस्या को दर्ज कर सकते है|

इस टोल फ्री नंबर पर दर्ज की गई शिकायत या कोई भी समस्या सीधा राज्य की राजधान स्थित के सेण्टर पर पहुँच जायगी| इसके बाद संबंधित अधिकारी के पास उस समस्या के निपटारे के लिए निर्देश दिये जाते हैं। उधर जिला स्तर पर भी जिलाधिकारी (DM) की अध्यक्षता में कमेटी बनी होती है जोकि शिकायतों की जांच पड़ताल के बाद कार्रवाई की जाती है |

|Registration| Ayushman Bharat Golden Card

Ayushman Bharat Helpline Number के लाभ

  • आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत टोल फ्री नंबर को हाल ही में देश के हर  राज्य के नागरिको सहायता प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है |
  • टोल फ्री नंबर पर की गई शिकायत सीधे राज्य की राजधान स्थित के सेंटर पर पहुंचती है। इसके बाद संबंधित अधिकारी के पास उस समस्या के निपटारे के लिए निर्देश दिये जाते हैं।
  • आयुष्मान भारत योजना की लिस्ट में अपना नाम चेक करा सकते हैं
  • इलाज के पैकेज और उनके रेट्स के बारे में पता कर सकते हैं
  • नजदीकी अस्पताल के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं
  • इलाज या व्यवस्थाओं में समस्याएं आने पर शिकायत कर सकते हैं
  • इस टोल फ्री नंबर के माध्यम से बहुत से ज़रूरतमंद नागरिक जो की आयुष्मान भारत योजना से जुड़े है उन सभी को समय पर इलाज और सहायता मिल पाएगी |
  • आप योजना के टोल फ्री नंबर पर कॉल लगाकर आसानी से अपनी समस्या को दर्ज कर सकते है |

देश के अस्पतालों और क्लीनिकों के बोर्ड पर टोल फ्री नंबर होना चाहिए

  • छोटे बड़े अस्पतालों में योजना से जुड़े टोल फ्री नंबर का बोर्ड लगा हुआ होना ज़रूरी है |
  • अस्पताल में जिस भी बिमारी का इलाज आयुष्मान योजना के तहत किया जाए उन सभी  बीमारियों का नाम लिखा होना अनिवार्य है |
  • अस्पताल में नियुक्त आयुष्मान मित्र का नाम और फोन नंबर भी दर्ज किया जाना  ज़रूरी है
  • अस्पतालो में योजना से सम्बन्ध्ता के कार्ड लगा होना चाहिए |

ऑनलाइन शिकायत के लिए Grievance Portal भी उपलब्ध है

यदि किसी समस्या के चलते आपकी कोई समस्या का समाधान टोल फ्री नंबर पर नहीं मिल पा रहा है तो आप सभी के लिए ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया भी लागू की गई है| इसके लिए सरकार ने एक Grievance शिकायत पोर्टल भी बना रक्खा है| इसका लिंक हम आप सभी को आगे के लेख में बताने जा रहे है |

आप अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर इस लिंक को खोलते हैं ते होमपेज पर बीचोबीच दो लिंक नजर आते हैं। पहला लिंक शिकायत दर्ज कराने का (Register Your Grievance) और दूसरा लिंक अपनी पिछली शिकायत कर कार्रवाई  (Track Your Grievance) के बारे में जानने के लिए होता है

ग्रीवांस पोर्टल पर ऑनलाइन शिकायत कैसे दर्ज कराएं 

  • ग्रीवांस पोर्टल के लिंक पर क्लिक करके, आयुष्मान भारत योजना का ग्रीवांस पोर्टल खोलें। इसके बाद नीचे बताए गए स्टेप्स को पूरा करना है
  • जो पेज खुलता है, उसमें बीचोबीच मौजूद, पहले लिंक (REGISTER YOUR GRIEVANCE) पर क्लिक करें
  • नया पेज खुलता है, उसमें आपको यह चुनना होता है कि आप किस कैटेगरी के लाभार्थी हैं
  • अगले स्टेप में स्क्रीन पर शिकायत फॉर्म खुल जाता है। उसमें मांगी गई जानकारियों को भरकर Submit कर दीजिए। आपकी शिकायत संबंधित अधिकारी के पास चली जाएगी और उस पर जांच पड़ताल के बाद कार्रवाई की जाएगी।
Updated: November 28, 2022 — 3:54 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *