महाराष्ट्र सीएम हेल्पलाइन नंबर: CM Helpline Toll Free Complaint Number/ WhatsApp No

दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं महाराष्ट्र सीएम हेल्पलाइन नंबर की मैं आपको बता दूं कि देश के अन्य प्रदेश सरकार द्वारा  प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में कानून व्यवस्था में सुधार लाने के लिए सुशासन स्थापित करने हेतु ऑनलाइन वेब पोर्टल एवं हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया गया है। इस हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से आप जनसाधारण की समस्याओं को  दर्ज कर सकते है और उसका समाधान हाथो हाथ पा सकते हैं।इसी तरह से महाराष्ट्र सरकार द्वारा अपने प्रदेश की निजी समस्याओं तथा सरकारी विभागों की समस्याओं को हल करने के लिए सरकार द्वारा वेब पोर्टल मोबाइल एप तथा व्हाट्सएप नंबर की शुरुआत की गई है। अगर आप भी इस विषय में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो  आज हम आपको अपना आर्टिकल के माध्यम से संपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। आपको हमारा आर्टिकल ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा।

महाराष्ट्र सरकार द्वारा ऑनलाइन शिकायत योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है?

  • महाराष्ट्र सरकार द्वारा ऑनलाइन  शिकायत योजना का मुख्य उद्देश्य था कि राज्य में सुशासन हेतु कानून व्यवस्था मैं सुधार लाना।
  • इस योजना का उद्देश्य था कि सरकारी विभागों से संबंधित कार्यों के लिए जनसाधारण की समस्याओं का समाधान करना।
  • महाराष्ट्र सीएम हेल्पलाइन नंबर का उद्देश्य था कि राज्य के नागरिकों को घर बैठे ही अपनी समस्याओं का समाधान पाने का ऑप्शन प्रदान करना।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य था कि देश को डिजिटल इंडिया बनाना और एक कदम आगे ले जाने का प्रयास करने में योगदान करना।

One Family One House Scheme

महाराष्ट्र सरकार द्वारा ऑनलाइन शिकायत योजना में हम कौन सी शिकायत दर्ज नहीं कर सकते हैं?

  • महाराष्ट्र सरकार द्वारा ऑनलाइन शिकायत योजना के तहत हम न्यायालय में चल रहे मामले से संबंधित शिकायत दर्ज नहीं कर सकते।
  • इस योजना के तहत सूचना और अधिकारियों से संबंधित शिकायत  दर्ज नहीं कर सकते।
  • Maharashtra Helpline Number के तहत हम समस्याओं से संबंधित सुझाव दर्ज नहीं कर सकते।
  • इस योजना के तहत हम धार्मिक विषयों से संबंधित शिकायत दर्ज नहीं कर सकते।

महाराष्ट्र सरकार द्वारा ऑनलाइन शिकायत योजना में शिकायत दर्ज करते समय कौन सी बातों का ध्यान रखना है?

  1. शिकायत का प्रकार और प्रशासनिक विभाग  को चुनना है शिकायत दर्ज करते वक्त
  2. अगर आप गांव तालुका एवं जिला कार्यालय से संबंधित शिकायत दर्ज करते  है तो  आप को जिला स्तर का ऑप्शन चुनना आवश्यक है।
  3. और अगर आप मंत्रालय स्तर पर समाधान किए जाने वाली समस्याओं का समाधान चाहते हैं तो आपको मंत्रालय से संबंधित विभाग का ऑप्शन चुनना आवश्यक है।

2. जिला स्तर के अंतर्गत प्रशासन के प्रकार को चुनना।

  • जिला के कलेक्टर द्वारा समाधान किए जाने वाली शिकायतें।
  • जाली डॉक्टर
  • राशन कार्ड, उचित मूल्य दुकान।
  • निवास प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • मनरेगा रोजगार के अंतर्गत मंसूरी अथवा रोजगार से संबंधित
  • रेत अथवा अन्य मूल्य खारिज।
  • भू राजस्व कानून अथवा भूमि से संबंधित
  • संजय गांधी योजना विधवा पेंशन स्वतंत्र संग्राम पेंशन से संबंधित
  • मनोरंजन टैक्स, वीडियो, हथियार विस्फोटक लाइसेंस, थिएटर लाइसेंस बनवाने से संबंधित।
  • करमचारी तबादला से संबंधित
  • सभी तरह के सहकारी सामाजिक न्याय एवं ट्रांसपोर्ट से संबंधित।

3.   ग्राम पंचायत के अंतर्गत दर्ज किए जाने वाली शिकायत  है

  •  गांव के विद्यालय से संबंधित सभी समस्याएं।
  •  ग्राम पंचायत से संबंधित सभी योजनाएं।
  •  जल, कुएं, सड़क, हैंडपंप आदि।
  •  इंदिरा आवास योजना से संबंधित
  •  पिछड़े वर्ग हेतु कल्याणकारी योजना से संबंधित।

4.  पुलिस प्रशासन द्वारा समाधान किए जाने वाली शिकायत

  • हत्या तथा दुर्घटना से संबंधित
  • अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति से संबंधित।
  • पासपोर्ट वेरीफिकेशन
  • आर्थिक अपराध सभी प्रकार का धोखा
  • रैगिंग होटल लाइसेंस।
  • गायब व्यक्तियों और चोरी से संबंधित।
  • पशु वध की रोकथाम से संबंधित।
  • धार्मिक और संप्रदायिक दंगे।

5.  नगर निगम से संबंधित शिकायत

  •  पर्यावरण से संबंधित
  •  अग्निशमन दल से संबंधित
  •  शादी जन्म मृत्यु  के पंजीकरण से संबंधित
  •  कूड़े के प्रबंधन से संबंधित
  •  पानी बिजली संपत्ति के टैक्स संबंधित।

महाराष्ट्र सरकार द्वारा ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया क्या है?

 राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी महाराष्ट्र सरकार द्वारा ऑनलाइन अपनी शिकायत दर्ज करना चाहते हैं, उन्हें नीचे दिए गए प्वाइंट्स को फॉलो करना होगा।

  • सबसे पहले आपको महाराष्ट्र सरकार द्वारा ऑनलाइन शिकायत योजना में शिकायत अपनी शिकायत दर्ज करवाने के लिए आपको इस योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है
महाराष्ट्र सीएम हेल्पलाइन नंबर
  • ऑफिशियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपको इस पेज पर नीचे दिए गए ऑप्शन post grievance पर क्लिक करना है।
महाराष्ट्र सीएम हेल्पलाइन नंबर
  • इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा। इस पेज पर आपको सिटिजन लॉगइन पर क्लिक करना है।
  • अब आपको यहां अपना मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी दर्ज करनी है। दर्ज करें और वेरीफाई के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके ईमेल आईडी पर ओटीपी  आएगा इस ओटीपी को दर्ज करने के बाद वेरीफाई पर क्लिक करें।
  • इस तरीके से शिकायत दर्ज का फॉर्म खुलकर आ जाएगा। आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी अच्छे से दर्ज करनी है।
  • सारी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना है। आपकी शिकायत दर्ज हो जाएगी।

 महाराष्ट्र सरकार द्वारा ऑनलाइन शिकायत दर्ज की स्थिति कैसे देख सकते हैं?

  • सबसे पहले आपको महाराष्ट्र सीएम हेल्पलाइन नंबर की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा जो आपको ऊपर दी हुई है।
  • आपको होम पेज पर  track grievance  का ऑप्शन दिखाई देगा। इस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
CM Helpline Number
  • उसके बाद आपको अपनी ईमेल आईडी मोबाइल नंबर डालकर वेरीफाई के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • उसके बाद आपकी ईमेल आईडी पर ओटीपी का मैसेज आ जाएगा।
  • ओटीपी को दर्ज करने के बाद वेरीफाई के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके  सामने एक पेज खोलकर आएगा, उसमें दिए गए ऑप्शन में शिकायत दर्ज क्रमांक, जिला, गांव, पंचायत या नगर निगम का नाम लिखकर सबमिट के बटन पर क्लिक करें।
  • इस तरह से आपके सामने शिकायत की स्थिति आ जाएगी
  • महाराष्ट्र शिकायत निवारण मंत्रालय का व्हाट्सएप नंबर: 9930997700

Conclusion 

 प्रिय दोस्तों उम्मीद करती हूं कि आपको मेरा आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा कि महाराष्ट्र सरकार द्वारा ऑनलाइन शिकायत दर्ज कैसे करी जाती है अथवा उसकी स्थिति कैसे देखी जाती है।  आगे भी इसी तरह आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से और स्कीम के बारे में जानकारी प्रदान करती रहूंगी। अगर आपको कोई भी कठिनाई है तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Updated: August 11, 2020 — 4:35 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *